14 जनवरी, 2021|12:45|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वैक्सीन की कमी दूर करने को बन रही 'लाइट डोज', रूस मानव परीक्षण करने को तैयार

कोरोना महामारी से अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देश बुरी तरह जूझ रहे हैं। ऐसे में कई देश वैक्सीन की कम आपूर्ति को विस्तार देने के तरीकों पर विचार कर रहे हैं। इसी कड़ी में रूस स्पूतनिक-वी वैक्सीन की एक खुराक वाली 'स्पूतनिक-लाइट' का मानव परीक्षण शुरू करने जा रहा है। वहीं, ब्रिटेन और जापान ने भी एक खुराक वाला टीका तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इसका असर थोड़े समय के लिए होगा लेकिन तत्काल ज्यादा लोगों को वैक्सीन उपलब्ध हो सकेगी।

संपन्न देशों में जल्द और बड़े पैमाने पर टीकाकरण शुरू होने के बावजूद कई जगह टीकों की कमी होने लगी है। ऐसे में रूस, ब्रिटेन, जापान समेत अन्य देश डबल-डोज के बीच समय बढ़ाने और डोज के आकार को कम करने के तरीकों पर काम करने में जुट गए हैं। रूस में वैज्ञानिकों ने इसे संभावित हल बताते हुए कहा कि इससे संक्रमण के उच्च दर वाले मुल्कों की मदद होगी। स्पूतनिक-वी की विदेशों में विपणन के लिए जिम्मेदार किरिल दैमित्री के अनुसार, रूस में इस्तेमाल की जानेवाली दो खुराक वाली वैक्सीन मूल ही रहेगी।

कम प्रभावी होगा:
स्पूतनिक-लाइट अपनी दो खुराक वाले टीके के मुकाबले कम प्रभावी होगी, लेकिन कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित देशों को अस्थायी राहत मिल सकेगी। स्पूतनिक-वी की मुख्य वैक्सीन के विकास में वित्तीय मदद देने वाला रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड 'स्पुतनिक-लाइट' के मानव परीक्षण में भी सहयोग करेगा। टीके की वैश्विक मांग को देखते हुए 'स्पूतनिक-लाइट' मूल वैक्सीन की एक खुराक वाला टीका होगी। इसका मास्को और सेंट पीटर्सबर्ग में मानव परीक्षण किया जाएगा।

क्या कहता है शोध:
हाल में वैज्ञानिकों ने शोध में दावा किया है कि सामान्य तापमान पर भंडारण की क्षमता वाले कोविड-19 टीके का एक डोज चूहों में रोग प्रतिरोधक क्षमता पैदा कर सकता है। एसीएस सेंट्रल साइंस पत्रिका में प्रकाशित स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के अध्ययन में कहा गया कि एक खुराक वाले टीके काफी हद तक सुरक्षा दे सकते हैं। अध्ययन के सह-लेखक पीटर किम ने कहा, हमारा लक्ष्य एकल डोज वाला टीका बनाना है जिसमें भंडारण या परिवहन के लिए शीत श्रृंखला की जरूरत नहीं होती है। अगर हम इसे ठीक से करने में सफल रहते हैं तो यह सस्ता भी होना चाहिए। हमारा टीका निम्न एवं मध्यम आय वाले देशों की आबादी के लिए होगा। शोध के निष्कर्षों के आधार पर स्टैनफोर्ड के वैज्ञानिकों ने कहा कि उनका नैनोपार्टिकल टीका केवल एक डोज के बाद कोविड-19 के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर सकता है।

किस देश में अब तक कितने लोगों को टीका लगा
देश          खुराक
अमेरिका  19.5 लाख
चीन        10 लाख
ब्रिटेन      8 लाख
रूस         7 लाख
इजरायल  2.79 लाख
(स्रोत: वेबसाइट आवरवर्ल्डइनडाटा के अनुसार दिसंबर अंत तक)

लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coronavirus Lite Dose Sputnik Lite Vaccine Human Trial