21 जनवरी, 2021|12:36|IST

अगली स्टोरी

सिंह

20 जन॰ 2021

शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आ सकती है। शैक्षिक कार्यों के लिए विदेश यात्रा पर जा सकते हैं। मित्रों का सहयोग मिलेगा। कला एवं संगीत में रुचि बढ़ेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)
 

सिंह

21 जन॰ 2021

आत्मविश्वास में कमी आएगी। जीवनसाथी के स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। नौकरी में परिवर्तन के साथ तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहेगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थान की यात्रा पर जा सकते हैं। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)
 

सिंह

22 जन॰ 2021

कला या संगीत के प्रति रुझान बढ़ सकता है। सम्पत्ति में वृद्धि होगी। राजनैतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति होगी। सेहत का ध्यान रखें। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। नौकरी के लिए साक्षात्कारादि कार्यों में सफलता मिलेगी। उच्च पद की प्राप्ति के योग बन रहे हैं। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)

सिंह

week4-2021

Not found

सिंह

1 जन॰ 2021

14 जनवरी तक आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। तदुपरांत आत्मविश्वास में कमी आएगी। मन परेशान रहेगा। मास के प्रारंभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थान की यात्रा पर जा सकते हैं। पांच जनवरी से कारोबार में कठिनाइयां आ सकती हैं। आय में कमी आ सकती है। 26 जनवरी से परिस्थितियों में सुधार होगा और पुन: आय में वृद्धि होगी। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

सिंह

1 जन॰ 2021

सिंह-24 जुलाई-22 अगस्त)
वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परंतु धैर्यशीलता में कमी रहेगी। किसी पैतृक संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है। पांच अप्रैल तक शैक्षिक कार्यों में व्यवधान रहेंगे, तदुपरांत शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। 14 अप्रैल के बाद किसी संपत्ति से धन लाभ के योग बन रहे हैं। 24 मई के बाद नौकरी में स्थान परिवर्तन की भी संभावना बन रही है। वाहन सुख में वृद्धि हो सकती है। कारोबार में वृद्धि होगी। लाभ के अवसर मिलेंगे। भाई-बहनों का साथ भी मिल सकता है। 15 सितंबर के बाद किसी मित्र के सहयोग से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। 21 नवंबर के उपरांत नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। आय में वृद्धि होगी। संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं।
उपाय-
1. प्रत्येक बुधवार के दिन गणेश स्त्रोत्र का पाठ करें। गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।
2. प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन लोटे में जल भरकर उसमें आधी चम्मच हल्दी, नौ दाने चने की दाल तथा थोड़ी सी चीनी डालकर केले के पेड़ पर चढ़ाया करें।
3. नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें।